गायक सिद्धू मूसेवाला का गांव नहीं मनाएगा दिवाली, दीया जलाकर करेंगे इंसाफ की मांग

 

 

 

भठिंडा। गायक सिद्धू मूसेवाला के गांव मूसा के लोगों ने इस बार दिवाली ना मनाने का फैसला किया है। गांव वासियों द्वारा किए गए फैसले के मुताबिक गांव का कोई भी व्यक्ति न तो पटाखे चलाएगा और ना ही दीपमाला ही करेगा। इस बात की घोषणा गांव के गुरुद्वारा साहिब से भी करवाई गई है। गुरुद्वारा में करवाई गई घोषणा के अनुसार गत दिवस सिद्धू मूसेवाला का कत्ल हो गया था, इस शोक में गांव का कोई भी व्यक्ति दिवाली नहीं मनाएगा। गांव के लोगों ने सभी गांव वासियों को इस फैसले को लागू करने की अपील की है।

 

इसके अलावा जिले के अन्य कई गांवों में भी मूसेवाला की मौत के कारण काली दिवाली मनाने का ऐलान किया गया है। गांव मूसा वासी कुलदीप सिंह व सुखपाल सिंह ने कहा कि गांव में कोई दीपमाला नहीं करेगा। सोमवार को दिवाली के दिन सिद्धू मूसेवाला की स्मार्क पर दोपहर दो से पांच बजे तक विरागमयी कीर्तन किया जाएगा।

 

इसमें सभी गांववासी काली पट्टी बांधकर शामिल होंगे व इंसाफ की मांग की जाएगी। उन्होंने सिद्धू मूसेवाला के प्रशंसकों से अपील करते हुए कहा कि वह कोई पटाखा न चलाएं ओर न ही दीपमाला करें। बल्कि सिद्धू मूसेवाला की याद में एक दीया जलाकर सरकार के खिलाफ रोष प्रगट करते हुए इंसाफ की मांग करें।

 

गांववासियों ने कहा कि आसपास के गांवों के लोगों द्वारा भी दिवाली न मनाने के लिए सहयोग किया जा रहा है। सिद्धू मूसेवाला के गांव के अलावा विदेशों में रहने वाले सिद्धू के फैंस भी काली दिवाली मनाएंगे। पंजाबी सिंगर सिद्धू मूसेवाला 29 मई को गोलियां मारकर हत्या कर दी गई थी।

 

अब तक हत्याकांड में शामिल आरोपितों को सजा न मिलने के कारण गांव के लोगों में गुस्सा है। जबकि मानसा के गांव जवाहरके, बुर्ज ढिलवां, जोगा, रामदित्तेवाला, खोखर, सदा सिंह वाला, गेहले, गगोवाल में भी लोग दिवाली का त्योहार नहीं मनाएंगे।

Leave A Reply

Your email address will not be published.