मुस्लिम बहुल देश इंडोनेशिया की मुद्रा पर ‘गणेशजी’ की छवि क्यों? आखिर सच क्या है?

 

नई दिल्ली (कौमि आवाज़) दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने भारतीय मुद्रा पर महात्मा गांधी की तस्वीर के साथ लक्ष्मी-गणेश की तस्वीर छापने की मांग को लेकर एक नया विवाद खड़ा कर दिया है। उनकी मांग को लेकर राजनीतिक नेताओं की प्रतिक्रिया भी तेजी से सामने आ रही है. इस बीच कई लोगों के मन में यह सवाल उठ रहा है कि केजरीवाल द्वारा अपने बयान के दौरान बताई गई इंडोनेशियाई करेंसी पर गणेशजी की तस्वीर की हकीकत क्या है!

दरअसल, अरविंद केजरीवाल ने अपने बयान में कहा है कि ”इंडोनेशिया एक मुस्लिम देश है.” यहां 85 प्रतिशत मुसलमान और केवल 2 प्रतिशत हिंदू हैं। लेकिन करेंसी पर श्री गणेश जी की तस्वीर है। मैं प्रधानमंत्री जी से अपील करता हूं कि नए छपे भारतीय नोटों पर गणेशजी और माता लक्ष्मी के चित्र लगाएं। इसको लेकर कई तरह की अफवाहें हैं, हालांकि पक्के तौर पर कुछ भी कहना मुश्किल है।

यह ध्यान देने योग्य है कि भारतीय मुद्रा को रुपया कहा जाता है, जबकि इंडोनेशियाई मुद्रा को रुपिया कहा जाता है। इंडोनेशिया में 20,000 रुपये के नोट में एक तरफ भगवान गणेश की तस्वीर है और नोट के दूसरी तरफ एक शिक्षक और कुछ छात्रों के साथ कक्षा की तस्वीर है। नोट पर जिस शिक्षक की तस्वीर है वह इंडोनेशिया के पहले शिक्षा मंत्री हजार देवंत्र हैं।

आइए अब यह समझने की कोशिश करते हैं कि 20000 रुपये के नोट में गणेशजी की तस्वीर क्यों है। ऐसा कहा जाता है कि इंडोनेशिया के कुछ हिस्सों पर कभी चोल वंश का शासन था। वहां कई मंदिर भी बनाए गए। ज्ञान, कला और विज्ञान के देवता के रूप में भगवान गणेश की मान्यता 20,000 रुपये के नोट पर उनकी उपस्थिति का कारण हो सकती है। वैसे, इंडोनेशियाई सरकार द्वारा आधिकारिक रूप से मान्यता प्राप्त 6 धर्मों में हिंदू धर्म शामिल है। इंडोनेशिया में हिंदू धर्म का प्रभाव कई चीजों पर देखा जा सकता है। उदाहरण के लिए वहां की सेना के शुभंकर हनुमानजी हैं। इंडोनेशिया में एक प्रसिद्ध पर्यटन स्थल में अर्जुन और श्री कृष्ण की मूर्तियों के साथ-साथ घोटुकच की मूर्ति भी है।

गौरतलब है कि कुछ साल पहले इंडोनेशिया की अर्थव्यवस्था की स्थिति बहुत खराब हो गई थी और वहां के राष्ट्रीय आर्थिक विचारकों ने काफी विचार-विमर्श के बाद 20000 हजार का नया नोट जारी किया और उस पर भगवान गणेश की छवि प्रकाशित की। लोगों का मानना ​​है कि तब से वहां की अर्थव्यवस्था मजबूत हुई है।

Leave A Reply

Your email address will not be published.