ऑल इंडिया मजलिस ए इत्तेहादुल मुस्लिमीन ने दो कारपोरेशन वार्ड पर उम्मीदवारों का ऐलान किया

नॉर्थ ईस्ट दिल्ली मुस्तफाबाद के बृजपुरी वार्ड पर श्रीमती सितारा मोहम्मद फखरुद्दीन और करावल नगर के श्री राम कॉलोनी वार्ड पर सरताज अली सैफी को बनाया उम्मीदवार

नई दिल्ली : ऑल इंडिया मजलिस ए इत्तेहादुल मुस्लिमीन दिल्ली प्रदेश ने दिल्ली नगर निगम चुनाव के लिए अपने उम्मीदवारों की पहली लिस्ट जारी करते हुए 2 उम्मीदवारों का ऐलान किया है। कल ही कारपोरेशन चुनाव का ऐलान किया गया था। मजलिस ने सबसे पहले फैसला लेते हुए उम्मीदवारों का ऐलान कर यह संकेत दिया है कि वह दिल्ली कारपोरेशन चुनाव पूरी मजबूती के साथ लड़ेगी। दिल्ली प्रदेश अध्यक्ष कलीमुल हफ़ीज़ ने बताया हमने पहली लिस्ट जारी की है और श्रीमती सितारा मोहम्मद फखरुद्दीन  को  वार्ड नं 245 बृजपुरी से उम्मीदवार बनाया है जबकि श्री सरताज अली सैफी को वार्ड नं 246 श्री राम कॉलोनी से उम्मीदवार बनाया है। दूसरे वार्डों पर भी उम्मीदवारों के नाम तय करने की प्रक्रिया तेज़ी से चल रही है और जल्द ही नामों का ऐलान कर दिया जाएगा।
कलीमुल हफीज़ ने कहा कि भारतीय जनता पार्टी और आम आदमी पार्टी ने दिल्ली की जनता के साथ धोखा किया है। यह चुनाव भारतीय जनता पार्टी के अत्याचार और आम आदमी पार्टी के फरेब के खिलाफ है। आज दिल्ली में लोगों का सांस लेना मुश्किल हो गया है, भारतीय जनता पार्टी ने दिल्ली में कूड़े का पहाड़ बनाए और उत्तर प्रदेश हरियाणा और केंद्र में सरकार होने के बाद भी प्रदूषण को समाप्त करने के लिए कुछ नहीं किया। आम आदमी पार्टी की दिल्ली और पंजाब में सरकार है, आम आदमी पार्टी ने प्रदूषण का हल देने का वादा किया था लेकिन उसने वादा पूरा नहीं किया। आज भारतीय जनता पार्टी और आम आदमी पार्टी एक दूसरे पर आरोप-प्रत्यारोप की राजनीति कर रहे हैं लेकिन इस गंभीर समस्या की समाप्ति के लिए उनके पास कोई भी फॉर्मूला नहीं है।
दिल्ली प्रदेश अध्यक्ष ने कहा कि अनाधिकृत कॉलोनियों और विशेष तौर पर दलित मुस्लिम बहुल बस्तियों के साथ भारतीय जनता पार्टी और आम आदमी पार्टी दोनों ने ही धोखे की राजनीति की है, दोनों पार्टियों ने अनाधिकृत कॉलोनियों के वासियों से वोट लिया लेकिन ना तो उन्हें शैक्षिक सुविधाएं दीं और ना ही स्वास्थ्य सेवाएं देने का काम किया। इसलिए इस बार का चुनाव भारतीय जनता पार्टी के अत्याचार, लोकतांत्रिक अधिकारों के हनन और आम आदमी पार्टी के धोके और फरेब के खिलाफ है। दिल्ली की जनता दोनों ही पार्टियों को इस बार चुनाव में सबक सिखाने का काम करेगी।
मजलिस ने दिल्ली के लोगों को एक राजनीतिक विकल्प दिया है, हमें जिस प्रकार समर्थन मिल रहा है उससे साफ है कि आने वाली 7 दिसंबर की तारीख दिल्ली में बड़े बदलाव का ऐलान करेगी। इंशाअल्लाह

Leave A Reply

Your email address will not be published.