पायलट को बधाई देने 21 मंत्री-विधायक पहुंचे:इनमें मलिंगा सहित 7 गहलोत समर्थक; CM बनाने की मांग, बड़ी संख्या में जुटे कार्यकर्ता

कांग्रेस के पूर्व प्रदेशाध्यक्ष और राजस्थान के डिप्टी सीएम रहे सचिन पायलट के जन्मदिन के बहाने उनके समर्थक आज जयपुर में शक्ति प्रदर्शन किया। कांग्रेस अध्यक्ष के चुनाव की घोषणा होने के बाद बीते करीब दस दिन से पायलट गुट अधिक एग्रेसिव दिख रहा है। समर्थक विधायक दावा कर रहे हैं कि सचिन को सीएम बनाने की मांग में कई विरोधी गुट के सदस्य भी अब उनके साथ हैं।

आज जयपुर के सिविल लाइंस में जुटे हजारों समर्थक व कांग्रेस कार्यकर्ताओं के अलावा अब तक 21 मंत्री-विधायक पायलट को जन्मदिन की बधाई देने पहुंचे। इनमें 3 मंत्री और 7 गहलोत समर्थक भी हैं। वहीं, बाड़ी (धौलपुर) से विधायक गिर्राज मलिंगा भी पायलट से मिलने पहुंचे। मलिंगा का आना सियासी तौर पर काफी अहम माना जा रहा है।

मंगलवार सुबह से ही जयपुर के अलावा बूंदी, टोंक, कोटा, दौसा, भरतपुर से कांग्रेस कार्यकर्ताओं का पायलट के घर पहुंचना शुरू हो गया था। सचिन का जन्मदिन 7 सितंबर को है, लेकिन राहुल गांधी की भारत जोड़ो यात्रा में शामिल होने के लिए वे कन्याकुमारी जा रहे हैं। इस कारण उन्होंने आज ही समर्थकों से मिलने का कार्यक्रम रखा।

ट्विटर पर ट्रेंड कर रहे पायलट सोशल मीडिया पर भी सचिन पायलट से जुड़े हैशटैग सुबह से ट्रेंड कर रहे हैं। #सचिनसंगराजस्थान के साथ अब तक 39 हजार से ज्यादा लोग ट्वीट कर चुके हैं। वहीं #SachinPilot भी दूसरे नंबर पर ट्रेंड कर रहा है।

सुबह सचिन के समर्थक कार्यकर्ताओं के साथ दो विधायक सबसे पहले सचिन से मिलने पहुंचे। इनमें उनियारा (बूंदी) विधायक हरीश चंद्र मीणा, नीम का थाना (सीकर) विधायक सुरेश मोदी हैं।

वहीं, महुवा (दौसा) से निर्दलीय और गहलोत समर्थक विधायक ओमप्रकाश हुड़ला ने भी पायलट से मुलाकात की। मसूदा (अजमेर) से कांग्रेस विधायक राकेश पारीक भी सुबह पूर्व डिप्टी सीएम से मिलने वालों में शामिल रहे। इसके बाद गहलोत समर्थक विधायक गंगा देवी पायलट से मिलने पहुंचीं।

बामनवास (टोंक) विधायक इंद्रा मीणा ने पायलट को बधाई दी तो गहलोत समर्थक किशनगढ़ (अजमेर) से निर्दलीय सुरेश टांक भी पायलट से मिलने सिविल लाइंस पहुंचे।

वन मंत्री हेमाराम चौधरी, परिवहन मंत्री बृजेंद्र ओला, पर्यटन राज्यमंत्री मुरारीलाल मीणा, श्रीमाधोपुर विधायक और पूर्व विधानसभा अध्यक्ष दीपेन्द्र सिंह शेखावत, टोडाभीम (करौली) विधायक पीआर मीणा, रबतसर (नागौर) विधायक रामनिवास गवडिया, बांदीकुई (दौसा) विधायक जीआर खटाना, लाडनूं से विधायक मुकेश भाकर, चाकसू विधायक वेद प्रताप सोलंकी, विराटनगर(जयपुर) इंद्राज गुर्जर, दांतारामगढ़ से विधायक वीरेंद्र सिंह ने भी पायलट के घर जाकर शुभकामनाएं दीं। बधाई देने निवाई (टोंक) विधायक प्रशांत बैरवा और बयाना (भरतपुर) विधायक अमर सिंह भी पहुंचे।

समर्थकों ने आज प्रदेश भर में कार्यक्रम रखे हैं। कल भी ब्लड डोनेशन कैंप सहित कई कार्यक्रम होंगे। राजधानी जयपुर में सिविल लाइंस में हर दीवार पर पायलट को जन्मदिन की शुभकामना देने वाले बैनर पोस्टर लगे हुए हैं। प्रदेश के दूसरे शहरों में भी इसी तरह का माहौल है।

पायलट से मिलने वाले सियासी चेहरों पर निगाह

सबकी निगाहें आज बड़े सियासी चेहरों पर रहेगी। पायलट से मिलकर बधाई देने आने वाले विधायकों की संख्या से भी सियासी नरेटिव तय होगा। पायलट के जन्मदिन से पहले यह सियासी जमावड़ा ऐसे वक्त हो रहा है जब कांग्रेस में राष्ट्रीय अध्यक्ष के चुनाव से लेकर राजस्थान के बदलावों को लेकर सियासी हलकों में चर्चाओं का दौर चल रहा है। पायलट समर्थक नेता और विधायक उन्हें मुख्यमंत्री बनाने की मांग उठा रहे हैं।

खुलकर सीएम बनाने की मांग उठाने लगे

सचिन पायलट समर्थक विधायक वेद प्रकाश सोलंकी और एससी आयोग अध्यक्ष खिलाड़ी लाल बैरवा अब खुलकर पायलट को सीएम बनाने की मांग उठाने लगे हैं। इस मांग का दूसरे समर्थक विधायक भी इशारों में समर्थन कर रहे हैं।

पायलट की अगली भूमिका जल्द तय होने की संभावना

पिछले लंबे समय से सचिन पायलट को सत्ता या संगठन में भूमिका दिए जाने का इंतजार है। पिछले 25 महीने से पायलट के पास कोई पद नहीं है। सचिन पायलट की अगली भूमिका पर जल्द फैसला होने की संभावना है।

बताया जाता है कि हाईकमान के स्तर पर इस मामले में चर्चा हाे चुकी है। इसे लेकर कुछ संकेत भी मिले हैं। सचिन पायलट अब सभाओं में अपने समथर्कों को सबको साथ लेकर चलने और सबका सम्मान करने की सीख दे रहे हैं। इसे भी एक बड़ा इशारा माना जा रहा है।

पायलट ने समर्थकों से सबका सम्मान करने की बात कहकर दिए संकेत

सचिन पायलट के समर्थक काफी अग्रेसिव नेचर के माने जाते हैं। गैर पायलट खेमे के मंत्री विधायकों की पायलट समर्थक कई बार हुटिंग भी कर देते हैं। शनिवार को ही पायलट समर्थकों ने महिला बाल विकास मंत्री ममता भूपेश के सामने पायलट के समर्थन में नारेबाज की थी।

पायलट ने सोमवार को सिकराय में एक सामाजिक कार्यक्रम में समर्थकों से सब नेताओं का सम्मान करने की सीख देकर आगे से किसी की हुटिंग नहीं करने को कहा है। इस सीख के सीधे सियासी मायने हैं।

पार्टी के निर्देश का ईमानदारी से पालन किया- पायलट

कांग्रेस अध्यक्ष चुनाव की घोषणा के साथ ही पायलट समर्थक एग्रेसिव दिख रहे हैं। वहीं, कुछ दिन पूर्व सचिन पायलट से जब चुनावों को लेकर सवाल किया गया तो उन्होंने कहा था कि- 22 को कांग्रेस के राष्ट्रीय अध्यक्ष पद के चुनाव के लिए नोटिफिकेशन जारी हो जाएगा। जो है, वो सामने आ जाएगा।

हम सब चाहे अपने लिए बोलें या दूसरों के लिए। जो पार्टी का निर्देश हुआ, हम सब ने पूरी लगन और ईमानदारी से उसका पालन किया है। उन्होंने कहा था कि-राजनीति में जो होता है, वह दिखता नहीं। जो दिखता है, वो होता नहीं। इसलिए अफवाहों पर नहीं जाना चाहिए और इंतजार करना चाहिए।

Leave A Reply

Your email address will not be published.