ब्रिटेन की नई PM लिज ट्रस का शपथ ग्रहण आज:लंदन नहीं स्कॉटलैंड में होगा समारोह, क्वीन की बीमारी की वजह से बदला कार्यक्रम

ब्रिटेन की नई प्रधानमंत्री लिज ट्रस आज शपथ लेंगी। शपथ ग्रहण समारोह इस बार स्कॉटलैंड के बाल्मोरल कासल में होगा। आमतौर पर यह लंदन के बकिंघम पैलेस में होता है, लेकिन क्वीन इस वक्त स्कॉटलैंड में हैं। वो अब यात्रा नहीं कर पा रही हैं। इसलिए नए PM की शपथ स्कॉटलैंड में होगी।

इसके पहले बोरिस जॉनसन ने PM हाउस 10 डाउनिंग स्ट्रीट से बतौर प्रधानमंत्री आखिरी भाषण दिया। इसमें वापसी का भरोसा दिलाया। कहा- कहा- अब वक्त लिज और उनकी पॉलिसीज के साथ खड़े होने का है। वो स्कॉटलैंड के एबरडीनशायर शहर के समर पैलेस में क्वीन का इस्तीफा सौंपेंगे। इसके बाद लिज ट्रस क्वीन से मिलेंगी और शपथ लेंगी।

जॉनसन जब क्वीन को इस्तीफा सौंप देंगे। इसके बाद लिज क्वीन से मिलेंगी। पारंपरिक रूप से इस मुलाकात को ‘किसिंग हैंड्स’ सेरेमनी कहा जाता है। हालांकि, इस बार क्वीन की खराब सेहत को देखते हुए यह सेरेमनी सिम्बॉलिक यानी प्रतीकात्मक होगी। शपथ ग्रहण समारोह स्कॉटलैंड के बाल्मोरल कासल में होगा।

आधिकारिक नियुक्ति होते ही नई PM लिज वापस लंदन आएंगी। यहां 10 डाउनिंग स्ट्रीट से उनका पहला भाषण होगा।

लंदन के समय के मुताबिक शाम करीब 4 बजे भाषण देने के बाद प्रधानमंत्री लिज अपनी कैबिनेट की नियुक्ति करेंगीं। क्वीन मंत्रियों को जूम कॉल पर शपथ दिलाएंगी। उनके हेड ऑफ द डिपार्टमेंट मंत्रियों को ‘सील या मुहर’ सौंपने की रस्म पूरी करेंगे।

नई कैबिनेट की पहली बैठक बुधवार (7 सितंबर) को होगी। इसके बाद प्रधानमंत्री लिज पहली बार सदन (हाउस ऑफ कॉमन्स) पहुंचेंगी।

लिज ने भारतीय मूल के ऋषि सुनक को हराया है

47 साल की लिज ट्रस ऋषि सुनक 20 हजार 927 वोटों से हराया है। लिज को ब्रिटेन की सियासत में फायरब्रांड नेता के तौर पर जाना जाता है। सोमवार को जीत का ऐलान होने के बाद लिज ने सुनक के बारे में कहा- मैं खुशकिस्मत हूं कि मेरी पार्टी में इतनी गहरी समझ वाले नेता हैं। परिवार और दोस्तों का भी शुक्रिया।

हालांकि लिज को 21 साल में सबसे कम पार्टी मेंबर्स के वोट मिले
मीडिया और सर्वे में लिज की बहुत बड़ी जीत की भविष्यवाणी हो रही थी। नतीजे आए तो तस्वीर दूसरी नजर आई। 2001 के बाद लिज पहली ऐसी ब्रिटिश PM इलेक्ट हैं जिन्हें 60% से कम वोट मिले। लिज के खाते में 57% पार्टी मेंबर्स के वोट आए। सुनक को 42.6% वोट हासिल हुए। 2019 में जब बोरिस जॉनसन प्रधानमंत्री बने तो उन्हें 66.4% वोट मिले थे।

2005 में डेविड कैमरून को 67.6% जबकि 2001 में डंकन स्मिथ को 60.7% वोट मिले थे। थेरेसा में को कभी मेंबरशिप बैलट यानी पार्टी सदस्यों के वोट की जरूरत नहीं पड़ी, क्योंकि उनके खिलाफ चुनाव लड़ने वाली प्रत्याशी आंद्रिया लीडसॉम ने पहले राउंड के बाद हार मान ली थी।

लिज तीसरी महिला प्रधानमंत्री

लिज ब्रिटेन की तीसरी महिला प्रधानमंत्री होंगी। उनके पहले मार्गरेट थैचर और थेरेसा मे इस पद पर रह चुकी हैं। लिज मार्गरेट थैचर को अपना आदर्श मानती हैं।

सुनक की हार सबसे बड़ी वजह
ट्रस प्रधानमंत्री पद की दौड़ में आखिर में शामिल हुई थीं, जबकि सुनक शुरुआती दौर में काफी मजबूत दिखे। पार्टी सांसदों ने सुनक को ट्रस के मुकाबले 12% ज्यादा वोट दिए थे, लेकिन, जब पार्टी काडर (टोरी वोटर्स) की बारी आई तो ट्रस आगे निकल गईं।

कंजर्वेटिव पार्टी के 85% सदस्य मूल ब्रिटिश के अलावा किसी को पसंद नहीं करते। सुनक की हार की सबसे बड़ी वजह यही रही। जीत के बाद ट्रस ने कहा- मैं कड़े मुकाबले के लिए सुनक की प्रशंसा करती हूं। साथ ही दोस्त बोरिस जॉनसन की आभारी हूं। जॉनसन को हटाने में सुनक की अहम भूमिका रही है।

Leave A Reply

Your email address will not be published.