उत्तराखंड: अंकिता हत्याकांड: फास्ट ट्रैक कोर्ट में सुनवाई, डीजीपी बोले- दिलाएंगे फांसी

 

 

मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने कहा कि अंकिता के साथ जघन्य अपराध हुआ है। कोई भी अपराधी जांच से नहीं बचेगा और न ही किसी कीमत पर छूटेगा। दोषियों को सख्त और जल्द से जल्द सजा दिलाने के लिए सरकार संकल्पबद्ध है। इसके लिए मामले को फास्ट ट्रैक कोर्ट में ले जाया जाएगा। उत्तराखंड में इस तरह की घटनाओं को कतई बर्दाश्त नहीं किया जाएगा। वहीं पुलिस महानिदेशक अशोक कुमार ने कहा कि अंकिता के हत्यारों को फांसी दिलाएंगे।

 

रविवार को खटीमा से लौटते समय देहरादून के जीटीसी हेलीपैड पर मीडिया कर्मियों से बातचीत में मुख्यमंत्री धामी ने कहा कि अंकिता हत्या मामले की जांच में किसी तरह की कोताही व ढील नहीं बरती जाएगी। पुलिस की ओर से तय समय में कार्रवाई की जा रही है। एसआईटी अपना काम शुरू कर दिया है। घटना में दूध का दूध और पानी का पानी होगा। अपराध में संलिप्त कोई भी आरोपी जांच से बचेगा नहीं। जांच में किसी भी पहलू को छोड़ा नहीं जाएगी।

 

सीएम ने कहा कि उत्तराखंड में ऐसी घटना को बर्दाश्त व स्वीकार नहीं किया जा सकता है। अपराधियों के खिलाफ सख्त सजा और जल्द से जल्द कार्रवाई के लिए सरकार फास्ट ट्रैक कोर्ट में मामले को ले जाने पर काम कर रही है।

 

उत्तराखंड में ऐसा समय आ गया जहां धड़ाधड़ निर्णय होंगे

मुख्यमंत्री ने कहा कि मामला विकास का हो या अवैध निर्माण का। उत्तराखंड में ऐसा समय आ गया जहां निर्णय होंगे। वे भी धड़ाधड़ होंगे। उस पर किसी तरह की रुकावट नहीं आएगी। अच्छे निर्णय पर कोई रोक नहीं लगेगी। जिन अपराधिक तत्वों ने सरकारी व वन भूमि पर अतिक्रमण कर रिजॉर्ट बनाए हैं, उनके खिलाफ सख्त कार्रवाई के लिए सभी जिलाधिकारियों को निर्देश दिए गए। ऐसे अवैध रिजॉर्ट को ध्वस्तीकरण की कार्रवाई चल रही है।

Leave A Reply

Your email address will not be published.