Kerala: दो महिलाओं का अपहरण कर दी बलि, पुलिस को शक, आरोपी दंपती ने खाया मांस

 

केरल के पथानामथिट्टा जिले में एक घर के अंदर दो महिलाओं के क्षत-विक्षत शव मिले हैं। आशंका है कि काले जादू के शक में ये हत्याएं की गई हैं। उन्हें इस घर में दफना दिया गया था। इन महिलाओं को दोस्ती झांसा देकर अपहृत किया और फिर बलि दे डाली। पुलिस को शक है कि आरोपी दंपती ने बलि देने के बाद महिलाओं का मांस भी खाया।

 

पुलिस के अनुसार काले जादू के चक्कर में ‘मानव बलि’ की आशंका है। पुलिस ने मामले में तीन लोगों को गिरफ्तार किया है। पुलिस ने आज तीनों आरोपियों को एर्नाकुलम की सत्र अदालत में पेश किया। कोर्ट ने तीनों को 26 अक्तूबर तक पुलिस रिमांड पर सौंपा है। इन पर मानव बलि का केस दर्ज किया गया है। तीन आरोपियों में एजेंट मोहम्मद शफी व भगवंत सिंह तथा उसकी पत्नी लाली शामिल है।

शवों के टुकड़े कर दफनाया

पुलिस के अनुसार बदमाशों ने पहले महिलाओं की हत्या की और फिर उनके शवों के कई टुकड़े कर उन्हें तिरुवल्ला के पास एक घर में दफना दिया। पुलिस अधिकारियों का कहना है कि काले जादू के चक्कर में इन महिलाओं की बलि दी गई। आरोपियों ने धनवान बनने के लिए पूजा की थी, बलि के लिए इन महिलाओं से दोस्ती की गई और फिर अपहरण कर बलि दे दी। मृतकों की पहचान कदवंथरा निवासी पद्मम (52) और कालड़ी निवासी रोसिली (50) के रूप में हुई है। दोनों 26 सितंबर से लापता थीं।

शफी मुख्य आरोपी, वैज्ञानिक जांच से मिले सुराग

कोच्चि के पुलिस आयुक्त सीएच नागराजू ने बताया कि हमने शफी से पहले पूछताछ की थी, लेकिन उसमें कोई सुराग नहीं मिला। वैज्ञानिक जांच के आधार पर ही हम घटनास्थल तक पहुंचे। शफी ही मुख्य साजिशकर्ता व आरोपी है।

 

पैसा व शोहरत के चक्कर में की वारदात

पुलिस ने तीनों आरोपियों को कल गिरफ्तार किया था। आरोपी दंपती व एजेंट शफी ने तंत्र-मंत्र की सिद्धि कर पैसा व शोहरत पाने के चक्कर में वारदात की। पुलिस के अनुसार शफी ही दोनों महिलाओं को लालच देकर आरोपी के घर ले गया था, जहां उनकी बलि देने के बाद उन्हें दफना दिया गया। आरोपी भगवंत सिंह और उसकी पत्नी ने पूछताछ में कबूल किया कि उन्होंने मृत महिलाओं का मांस भी खाया। जांच के दौरान दोनों लापता महिलाओं के फोन एजेंट मोहम्मद शफी के पास पाए गए। इसके बाद उसे गिरफ्तार कर पूछताछ की तो अपहरण व बलि देने का मामला सामने आया।

 

वाम सरकार पर बरसे जावड़ेकर, घटना को बताया अमानवीय

वरिष्ठ भाजपा नेता प्रकाश जावड़ेकर ने मानव बलि की इस घटना को लेकर केरल की वाम मोर्चा सरकार की कड़ी आलोचना की है। उन्होंने इस घटना को अमानवीय बताते हुए कड़ी निंदा की है।  उन्होंने कहा कि राज्य में महिलाओं के खिलाफ अपराध बढ़ रहे हैं। यह घटना न केवल महिला विरोधी है, बल्कि पर्दे के पीछे माकपा वर्कर व कट्टरपंथी हो सकते हैं। पूर्व केंद्रीय मंत्री ने इस कृत्य को ‘बर्बर’ करार देते हुए कहा कि यह पाषाण युग का अपराध है। यह गुंडागर्दी को बढ़ावा देने के कारण हुआ। यही वाम सरकार का असली चरित्र है।

Leave A Reply

Your email address will not be published.