पहली बार MBBS हिंदी में:शाह आज करेंगे किताबों का विमोचन; क्लास 15 नवंबर से

 

भोपाल।

देश में पहली बार मध्यप्रदेश में MBBS की पढ़ाई हिन्दी में होगी। इसके पाठ्यक्रम की 3 किताबें तैयार हैं। आज भोपाल में इनका विमोचन किया जाएगा। 15 नवंबर से नए बैच को इन्हीं किताबों से पढ़ाया जाएगा।

 

देश के इतिहास में MBBS की पढ़ाई में एक नया अध्याय मध्यप्रदेश से जुड़ने जा रहा है। अब यहां डॉक्टरी की पढ़ाई ​​​​​हिन्दी में हो सकेगी।​ केन्द्रीय गृहमंत्री अमित शाह आज MBBS के पाठ्यक्रम की हिन्दी की किताबों का विमोचन करेंगे। शाह एयरपोर्ट से हेलीकॉप्टर से दोपहर 12 बजे कार्यक्रम स्थल लाल परेड ग्राउंड पहुंचेंगे। इस मौके पर सीएम शिवराज सिंह चौहान, चिकित्सा शिक्षा मंत्री विश्वास सारंग भी मौजूद रहेंगे। इसके बाद शाह दोपहर 2 बजे ग्वालियर के लिए रवाना होंगे।

 

प्रभारी मंत्री ने देखी तैयारियां

अमित शाह के दौरे को देखते हुए चिकित्सा शिक्षा मंत्री विश्वास सारंग पिछले 15 दिनों से तैयारियों में जुटे थे। शनिवार शाम प्रभारी मंत्री भूपेन्द्र सिंह ने लाल परेड ग्राउंड पहुंचकर कार्यक्रम स्थल पर तैयारियों का जायजा लिया। इस दौरान मंत्री भूपेन्द्र सिंह के साथ ACS हेल्थ मो. सुलेमान, चिकित्सा शिक्षा आयुक्त डॉ. संजय गोयल, नगर निगम कमिश्नर केवीएस चौधरी कोलसानी भी मौजूद थे।

 

केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह आज भोपाल के लाल परेड ग्राउंड में MBBS की हिन्दी की किताबों का विमोचन करेंगे। मंत्री भूपेन्द्र सिंह ने अफसरों के साथ शनिवार को कार्यक्रम स्थल पर तैयारियों का निरीक्षण किया।

केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह आज भोपाल के लाल परेड ग्राउंड में MBBS की हिन्दी की किताबों का विमोचन करेंगे। मंत्री भूपेन्द्र सिंह ने अफसरों के साथ शनिवार को कार्यक्रम स्थल पर तैयारियों का निरीक्षण किया।

भोपाल में ऐसा है शाह का कार्यक्रम

11:50 पर भोपाल एयरपोर्ट पहुंचेंगे

12:05 पर एयरपोर्ट से लाल परेड ( हेलीकॉप्टर से)

12 बजे से 1:50 तक हिन्दी की किताबों का विमोचन कार्यक्रम

1 से 1:50 तक प्रदर्शनी और भोजन

1:50 पर लाल परेड से एयरपोर्ट के लिए रवाना

97 डॉक्टरों ने चार महीने में तैयार की 3 किताबें

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के आह्वान पर मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने यह काम चिकित्सा शिक्षा विभाग को दिया था। प्रदेश के 97 डॉक्टरों की टीम ने 4 महीने तक रात-दिन मेहनत कर अंग्रेजी की किताबों का हिन्दी में अनुवाद किया है। डॉक्टरों के साथ कम्प्यूटर ऑपरेटर्स की टीम बनाई गई। इस टीम ने 24 घंटे, सातों दिन लगकर MBBS फर्स्ट ईयर की 5 किताबों का हिन्दी में अनुवाद किया। इस प्रक्रिया में तकनीकी पहलुओं और छात्रों के भविष्य की चुनौतियों का भी ख्याल रखा गया है। इन किताबों को इस प्रकार अनुवादित कर तैयार किया गया है, जिसमें शब्द के मायने हिन्दी में ऐसे न बदल जाएं कि उसे समझना मुश्किल लगे।

 

मेडिकल फील्ड के 50 हजार स्टूडेंट्स होंगे शामिल

लाल परेड ग्राउंड पर आयोजित कार्यक्रम में अमित शाह हिन्दी में मेडिकल की पढ़ाई की अनुवादित किताबों का विमोचन करेंगे। इस कार्यक्रम से 50 हजार मेडिकल फील्ड के स्टूडेंट्स जुड़ेंगे। कार्यक्रम में भोपाल के सरकारी, प्राइवेट मेडिकल, नर्सिंग, पैरामेडिकल कॉलेजों के छात्र शामिल होंगे। दूसरे शहरों के मेडिकल स्टूडेंट्स वर्चुअली इस कार्यक्रम से जुडे़ेंगे।

 

15 नवंबर से होगी हिन्दी में पढ़ाई की शुरुआत

काउंसिलिंग के बाद आने वाले MBBS के नए बैच के छात्रों को हिन्दी में अनुवादित की गई किताबों से पढ़ाया जाएगा। 15 नवंबर से नए बैच की पढ़ाई हिन्दी में होगी। इस शुरुआत के बाद मप्र के ग्रामीण अंचलों में रहने वाले हिन्दी माध्यम से पढ़ाई करने वाले छात्र उत्साहित हैं।

Leave A Reply

Your email address will not be published.