छमाही की छुट्टियों में मदरसा छात्र सावधानीपूर्वक यात्रा करें : मौलाना अमीनुल हक़ अब्दुल्लाह क़ासमी

छमाही परीक्षा के बाद जामिया महमूदिया अशरफुल में 10 दिवसीय अवकाश का ऐलान, जामिया संचालक की छात्रों को नसीहत

कानपुर :- जाजमऊ स्थित पूर्वी उत्तर प्रदेश के प्रसिद्ध मदरसे जामिया महमूदिया अशरफुल उलूम में छमाही परीक्षा के बाद 10 दिवसीय अवकाश का ऐलान किया गया। अवकाश के ऐलान से पूर्व जामिया के संचालक मौलाना अमीनुल हक़ अब्दुल्लाह क़ासमी ने छात्रों को नसीहतें करते हुए कहा कि आप यहां अपना समय निकालकर तालीम (शिक्षा) हासिल करने आये, इसलिये समय का सदुपयोग करते हुए तालीम व तरबियत दोनों ही तरह से अपने अन्दर निखार पैदा करने की कोशिश की, घर जाने के बाद भी यह नज़र आना चाहिए कि आप कहीं से तालीम हासिल करके आये हैं। अब आप घर जा रहे हैं, वर्तमान परिस्थितियों को ध्यान रखते हुए विशेष सावधानियां बरते, कहीं कोई परेशानी आये तो समय रहते अपने अध्यापकों और बड़ों को सूचित करें। अकेले यात्रा करने से बचें, साथियों के साथ रहें, यात्रा के दौरान दुआएं पढ़ते रहें।
नाज़िमे तालीमात (अध्यापन कार्यां के प्रमुख) मुफ्ती सैयद मुहम्मद उस्मान क़ासमी ने कहा कि अब आप अपने घरों को रवाना हो रहे हैं, जिस तरह मदरसे में रहकर नमाज़ों की पाबन्दी होती रही, घर पर भी यह पाबन्दी होती रहे। जहां भी रहें, अपने अध्यापकों एवं माता-पिता का सदैव सम्मान करें। नई उम्र में गुस्सा ज्यादा आता है इसलिये अगर कोई परेशानी होती है तो अपने गुस्से पर क़ाबू रखें, खुद से निर्णय लेने के बजाये ज़िम्मेदारो से बात करें। 18 अक्तूबर से 27 अक्तूबर बुधवार 10 दिनों तक जामिया में अवकाश रहेगा। अवकाश के बाद समस्त छात्रों की समय पर उपस्थिति अनिवार्य है। इस अवसर पर जामिया के समस्त छात्र एवं अध्यापकगण मौजूद रहे।

Leave A Reply

Your email address will not be published.