Browsing Tag

हसरत मोहानी: दरवेशी-ओ-इंक़िलाब है मसलक मेरा.

हसरत मोहानी: दरवेशी-ओ-इंक़िलाब है मसलक मेरा.

संदर्भ: 14 अक्टूबर जंग-ए-आज़ादी के सूरमा, सहाफ़ी-एडिटर-शायर मौलाना हसरत मोहानी का जन्मदिवस। ज़ाहिद ख़ान जंग-ए-आज़ादी में सबसे अव्वल ‘इन्क़लाब ज़िंदाबाद’ का जोशीला नारा बुलंद करना और हिंदोस्तान की मुकम्मल आज़ादी की मांग, महज़ ये…
Read More...