दाढ़ी मुसलमानों का धार्मिक प्रतीक है, जेलर द्वारा मुस्लिम कैदियों की दाढ़ी जबरन मुंडवाया जाना आतंकवादी कृत्य: ऑल इंडिया इमाम्स काउंसिल, मध्य प्रदेश

 

भोपाल (प्रेस विज्ञप्ति) 17 सितंबर 2022

मध्य प्रदेश के राजगढ़ की जिला जेल में बंद पांच मुस्लिम युवकों की जेलर द्वारा जबरन दाढ़ी मुंड दी गई। इन युवकों का दोष बस इतना था कि वे समाज की एक बेटी की इज्जत बचाने के लिए आगे आए और उन्होंने लड़की से छेड़छाड़ करने वाले एक व्यक्ति को पकड़कर पुलिस के हवाले कर दिया। इन मुस्लिम युवकों को पुलिस द्वारा धन्यवाद देने और एक लड़की की इज्जत बचाने के लिए उन्हें सम्मानित करने के बजाय, उन पर मामला दर्ज कर जेल में डाल दिया गया, इतना ही नहीं बल्कि जेलर के आदेश पर उनकी दाढ़ी जबरन मूंड दी गई। और जेलर ने बेहद अभद्र रवैया अपनाते हुए कहा कि तुम लोग पाकिस्तान से आए हो। जबकि इन मुस्लिम युवकों ने जेलर से गुहार लगाई कि दाढ़ी हमारा धार्मिक प्रतीक है; इसे मत मुंडवाओ, लेकिन जेलर ने उनकी एक न सुनी।

ऑल इंडिया इमाम्स काउंसिल मध्य प्रदेश के अध्यक्ष मुफ्ती अताउल्लाह कासमी ने राजगढ़ जिला जेल के जेलर के इस अमानवीय और असंवैधानिक शर्मनाक कृत्य पर अपनी कड़ी प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए कहा कि, “किसी भी जेल में जेलर की हैसियत कानून के रक्षक और कैदियों की देखभाल करने वाले की होती है। लेकिन कानून के इस रक्षक ने कानून की अवहेलना करते हुए जेल में बंद एक विशेष धर्म के युवाओं को गालियां दी और जबरन उनकी दाढ़ी मुंडवा दी।

ऑल इंडिया इमाम्स काउंसिल यह मांग करती है कि कैदियों के धार्मिक प्रतीक को निशाना बनाने वाले ऐसे क्रूर, कानून तोड़ने वाले और नफरती जेलर को नौकरी से बर्खास्त किया जाए। और उसे इस हरकत पर कड़ी कानूनी सजा दी जानी चाहिए, ताकि प्रदेश और देश के भीतर धार्मिक सहिष्णुता, शांति और आपसी प्रेम और भाईचारा बना रहे। यदि इस जेलर को बर्खास्त नहीं किया गया और उसके खिलाफ कानूनी कार्रवाई नहीं की गई तो प्रदेश स्तर पर विरोध प्रदर्शन किया जाएगा।

ऑल इंडिया इमाम्स काउंसिल, मध्य प्रदेश

Leave A Reply

Your email address will not be published.