पप्पू यादव का आरोप- बेगूसराय गोलीकांड के आरोपी लुस्की का बीजेपी नेताओं के साथ संबंध, जांच की मांग।

 

पटना: बेगूसराय गोलीकांड को लेकर बीजेपी नेताओं पर जनअधिकार पार्टी (जाप) सुप्रीमो पप्पु यादव ने जमकर हमला बोला। उन्होंने कहा कि सरकार पर सवाल उठाने वाले बीजेपी नेताओं की हत्यारों के खिलाफ बोलने की ताकत क्यों नहीं है। उन्होंने कहा कि इस कांड में जिस लुस्की का नाम आ रहा है, उसका केंद्रीय मंत्री और बाजेपी के कुछ नेताओं से संबंध रहे हैं। इसकी जांच हो, तो सबकुछ साफ हो जाएगा।

उन्होंने कहा कि अपराधी की कोई जात नहीं होती और अपराध को संरक्षण देने वाले नेताओं की कोई जमीर नहीं होती है। आप राजनीति कीजिए, लेकिन बिहार को बदमान मत कीजिए। जो लोग ये कह रहें हैं कि अपराधी साइको था तो उन्हें मैं स्पष्ट कर देना चाहता हूं कि दो मोटरसाइकिल पर सवार चारों के चार अपराधी साइको नहीं हो सकते। ये लोग बेखौफ अपराधी हैं। इन्हीं लोगों ने पटनासिटी में दो घंटे तक गोलियां चलाकर तीन लोगों की जान ले ली थी। किसी को इसकी खबर क्यों नहीं है और कैसे ये लोग खुलेआम सड़कों पर कत्लेआम मचा रहे हैं। ये कुछ नेताओं के संरक्षण में रची जा रही साजिश है जिससे बिहार को बदनाम करने की कोशिश की जा रही है।

पप्पू यादव ने बीजेपी पर निशाना साधते हुए कहा कि पिछले तीन महीने में पटनासिटी में 11 हत्याएं हुईं। क्या नंदकिशोर यादव कहीं गए। नित्यानंद राय के क्षेत्र का भी यही हाल है। बेगूसराय में तीन-तीन, चार-चार मुखिया की हत्या हुई। 11 व्यवसायियों की हत्या हुई. गिरीराज सिंह कहीं नहीं गए। सभी घटनाओं में पप्पू यादव पीड़ित परिजनों के साथ खड़ा रहा।

पप्पू यादव ने सरकार की कार्यशैली पर सवाल उठाते हुए कहा कि घटना को लेकर सरकार ने तत्परता नहीं दिखाई। सिर्फ निलंबन से काम नहीं बनने वाला है। यूपी की तर्ज पर अपराधियों के घर पर बुल्डोजर चलाइये. चाहे वह अपराधी नेता, मंत्री या विधायक हो या उनका संबंधी या किसी जाति-धर्म से जुड़ा व्यक्ति हो। पप्पू यादव ने नीतीश कुमार से सवाल पूछा कि क्या मजबूरी है कि प्रभारी से लेकर एसपी-कलक्टर तक को नहीं बदला जा रहा है।
पप्पू यादव ने बिहार के कृषि मंत्री सुधाकर सिंह पर हमला बोला और कहा कि सुधाकर सिंह ने जिस तरीके से सीएम का अपमान किया वह सही नहीं है। किसी मंत्री को यह अधिकार नहीं कि वह मुख्यमंत्री का अपमान करे, मैं लालू यादव से निवेदन करता हूं कि वह जगदानंद सिंह से बात करें, क्योंकि जरूरी नहीं कि जगदानंद अच्छे आदमी हैं तो उनका बेटा भी अच्छा आदमी हो। सुधाकर सिंह बीजेपी की भाषा बोल रहे हैं और सीएम का अपमान कर रहे हैं। उन्हें पार्टी से बर्खास्त किया जाना चाहिए।

Leave A Reply

Your email address will not be published.